Mutual Funds SIP India – म्यूचुअल फंड SIP कैसे खरीदें – Top 10 Mutual Funds For SIP To Invest In 2021

यह ब्लॉग Mutual Funds SIP India और भारत में Mutual Funds SIP कैसे खरीदें, इसके लाभ / उपयोग और यह कैसे काम करता है, के बारे में है। यह Mutual Funds SIP India के बारे में आपके सभी संदेहों को दूर करेंगे साथ ही, म्यूचुअल फंड SIP में निवेश करने के कुछ टिप्स दिया गया है।

म्यूचुअल फंड लेख श्रृंखला को जारी रखते हुए, हुम इस ब्लोग मे SIP के बरे मे जानेगे।

Mutual Funds SIP India और भारत में Mutual Funds SIP कैसे खरीदें

नमस्कार दोस्तों, आप सभी ने म्यूचुअल फंड और एसआईपी के बारे में तो सुना ही होगा। लेकिन क्या आप Mutual Funds SIP India में कैसे निवेश किया जाता है? Mutual Funds SIP India में कैसे खरीदा जाता है? और क्या आप उन एसआईपी योजनाओं का सर्वोत्तम उपयोग करना जानते हैं? आपके लिए Mutual Funds SIP को समझने में आसान हो इसके लिए हमने तीनों तरह के प्लान (Systematic Investment Plans, Regular plans and Direct plans) का definition और Simple comparison किया है इस आर्टिकल में। और आज, मैं अपना experience शेयर करने जा रहा हु। और सामान्य गलतियों से बचने में आपकी सहायता करता हूं जो हम करते हैं। कृपया बने रहे।

म्यूचुअल फंड क्या है?

म्यूचुअल फंड एक निवेश योजना है जहां एक निवेशक अपने भविष्य के लिए पैसा बचा सकता है। म्युचुअल फंड एक विशाल कंटेनर की तरह होते हैं जो विभिन्न Stocks, Bonds, debt और मुद्रा बाजार की securities रखते हैं। आपको सही स्टॉक या बॉन्ड के चयन के बारे में चिंता करने की ज़रूरत नहीं है क्योंकि म्यूचुअल फंड एक पेशेवर रूप से एक विशेषज्ञ पोर्टफोलियो मैनेजर द्वारा प्रबंधित किया जाता है जो उस विशेष क्षेत्र का विशेषज्ञ होता है। यह ब्लॉग भारत में म्यूचुअल फंड एसआईपी और भारत में म्यूचुअल फंड एसआईपी कैसे खरीदें, के बारे में है।

सिप क्या है और कैसे काम करता है (What is SIP in Hindi)

अब सिप (SIP) और Mutual Funds के बारे में सभी लोग सुने होंगे, लेकिन यह SIP है क्या? (What is SIP in Hindi?)। यह एक व्यवस्थित निवेश योजना है जिसका उपयोग निवेशक अपनी सुविधा के अनुसार स्टॉक म्यूचुअल फंड में निवेश करने के लिए करते हैं। इसमें एक ही फंड राशि को निश्चित अंतरालों यानी मासिक, त्रैमासिक या वार्षिक पर पुनर्खरीद करना शामिल है।

वेतनभोगी या व्यवसाय करने वाले व्यक्तियों ने SIP की अवधारणा के बारे में सुना होगा। लेकिन फिर भी, उनमें से बहुत से लोग नहीं जानते कि भारत में म्यूचुअल फंड एसआईपी कैसे खरीदें।

SIP का मतलब क्या है?

म्यूचुअल फंड निवेशकों को एक अनुशासित तरीके से निवेश करने की पेशकश करता है जिसे लोकप्रिय रूप से व्यवस्थित निवेश योजना (Systematic investment plan – SIP) के रूप में जाना जाता है। यह निवेशकों को चयनित म्यूचुअल फंड योजनाओं में पूर्वनिर्धारित अंतराल पर एक निश्चित राशि का निवेश करने की अनुमति देता है।

भारत में Mutual Funds SIP India आपको लंबी अवधि के लिए महीने-दर-महीने नियमित रूप से निवेश करने में मदद करता है। यह सबसे अच्छी निवेश योजनाओं में से एक है। यह आपके पैसे का निवेश करने और आयकर अधिनियम, 1961 की धारा 80C द्वारा कर बचाने के लिए एक अच्छा प्रवेश द्वार है।

आयकर अधिनियम, 1961 की धारा 80C क्या है?

आयकर अधिनियम, 1961 की धारा 80C कि तहत एक व्यक्ति PPF, SIP, LIC Premium, Equity Linked सेविंग स्कीम, होम लोन की मूल राशि का भुगतान, संपत्ति की खरीद के लिए स्टांप ड्यूटी और पंजीकरण शुल्क, सुकन्या समृद्धि योजना (SSY), राष्ट्रीय बचत प्रमाणपत्र (NSC), वरिष्ठ नागरिक बचत योजना में किया गया निवेश (SCSS), यूलिप, 5 साल के लिए टैक्स सेविंग एफडी, इंफ्रास्ट्रक्चर बॉन्ड आदि निवेश के लिए अधिकतम रुपये की कटौती का दावा कर सकता है। आयकर अधिनियम 1961 की धारा 80C के तहत कुल कर योग्य आय से 1.5 लाख तक आयकर रिटर्न दाखिल करते समय धारा 80C के तहत यह कर कटौती व्यक्तियों और हिंदू अविभाजित परिवारों (HUF) द्वारा दावा किया जा सकता है।

क्या म्यूचुअल फंड निवेश पर धारा 80C कटौती लागू होती है?

आयकर अधिनियम, 1961 की धारा 80C ELSS Mutual Funds के लिए केवल 1.5 लाख रुपये तक की कटौती की अनुमति देता है। इसलिए ELSS Mutual Funds में किए गए किसी भी निवेश पर 80C के तहत कटौती का दावा किया जा सकता है।

ELSS Funds – Equity Linked Savings Scheme क्या है?

Equity Linked Savings Scheme या ELSS Funds आयकर अधिनियम, 1961 की धारा 80C के तहत एक कर-बचत निवेश है। ELSS Funds में निवेश करके, आप प्रति वर्ष 1,50,000 रुपये तक की tax छूट का दावा कर सकते हैं और प्रति वर्ष 46,800 रुपये तक की Tax बचत कर सकते हैं। एक ELSS एक मात्र म्यूचुअल फंड है जो धारा 80C के तहत कर लाभ के लिए पात्र है।

Systematic Investment Plans (SIP) बनाम Regular plans बनाम Direct plans

Systematic investment plan (SIP) एक व्यवस्थित निवेश योजना म्यूचुअल फंडों द्वारा निवेशकों को दी जाने वाली एक निवेश प्रणाली है, जो उन्हें lump sums के बजाय समय-समय पर EMI के रूप में छोटी राशि का निवेश करने की अनुमति देती है। भारत में निवेश की आवृत्ति आमतौर पर मासिक होती है।

डायरेक्ट प्लान सीधे फंड हाउस द्वारा पेश किए जाते हैं जबकि रेगुलर प्लान intermediaries or distributors जैसे स्वतंत्र वित्तीय सलाहकारों, बैंकों या NBFC के माध्यम से खरीदे जाते हैं। 2. डायरेक्ट प्लान में कोई कमीशन और ब्रोकरेज नहीं होता है, जबकि रेगुलर प्लान के लिए, बिचौलियों को कमीशन या ब्रोकरेज का भुगतान किया जाता है।

Lumpsum Investment क्या है?

Lumpsum Investment म्यूचुअल फंड हाउस द्वारा प्रदान किया जाने वाला एक निवेश तरीका है जो निवेशकों को एक बार में पूरी राशि जमा करने की अनुमति देता है। Lumpsum Investment म्यूचुअल फंड में निवेश का एक लोकप्रिय तरीका है। यदि आप अपने पास उपलब्ध पूरी राशि को किसी म्युचुअल फंड योजना में निवेश करते हैं, तो इसे Lumpsum म्यूचुअल फंड निवेश कहा जाता है। लंबी अवधि में निवेश करने का यह एक बेहतरीन तरीका है।

भारत में Mutual Funds SIP कैसे खरीदें?

क्या आपको ज़ानना है कि भारत में Mutual Funds SIP कैसे खरीदें? इस लेख में मैं आपको बताऊंगा कि भारत में Mutual Funds SIP कैसे खरीदें। जैसा कि नाम से पता चलता है, SIP Systematic Investment Plan का संक्षिप्त नाम है। यह आपकी मेहनत की कमाई को निवेश करने का एक व्यवस्थित तरीका है।

परिभाषा के अनुसार, एक SIP निवेश एक निवेश योजना है जो नियमित रूप से और लगातार छोटी राशि की बचत करके धन संचय करने के प्राथमिक उद्देश्य के साथ लंबी अवधि में छोटे या बड़े दोहराव वाले निवेश करता है – उदाहरण के लिए हर महीने। चक्रवृद्धि आधार पर अपनी संपत्ति बनाने के लिए एक SIP एक अच्छी रणनीति है!

म्यूचुअल फंड SIP में invest करने से पहले 5 Tips

SIP उन लोगों के लिए सबसे अच्छा निवेश विकल्प है जो मासिक आधार पर छोटी राशि का निवेश करना चाहते हैं और अधिकतम रिटर्न प्राप्त करना चाहते हैं। SIP के साथ, आप बिना किसी नियमित अंतराल के किसी विशेष स्क्रिप में नियमित रूप से निवेश कर सकते हैं। SIP का लाभ Stocks, Equity Mutual Fund और फिक्स्ड डिपॉजिट में लिया जा सकता है। इसलिए यदि आप म्यूचुअल फंड SIP में निवेश शुरू करना चाहते हैं, तो यहां कुछ बिंदु दिए गए हैं, जिन्हें आपको इस तरह की निवेश योजना चुनने से पहले ध्यान रखना चाहिए।

Tips:

  1. पहले रिसर्च करें और सही म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश करें
  2. आप जिस म्युचुअल फंड में निवेश करने जा रहे हैं, उसके पिछले महीने या साल के रिटर्न की जांच करें।
  3. लंबी अवधि में SIP सबसे अच्छा रिटर्न देता है। इसलिए एक दीर्घकालिक लक्ष्य निर्धारित करें और जितनी जल्दी हो सके शुरू करें।
  4. आपके द्वारा निवेश किए गए फंड के प्रदर्शन पर नजर रखें।
  5. जल्दी Funds Withdraw न करें।
  6. कम NAV वाला Fund ज्यादा ग्रोथ देगा, जबकि ज्यादा NAV वाला Fund कम ग्रोथ देगा। (Bonus)

SIP में निवेश कैसे शुरू करें?

भारत में Mutual Funds SIP में निवेश कैसे करें यह एक मिलियन डॉलर का सवाल है। हालांकि, SIP निवेश करने से पहले आपको यह पता होना चाहिए कि बेहतर रिटर्न पाने के लिए अपनी मेहनत की कमाई को कहां निवेश करना है। भारत में, कई प्रकार की Mutual Funds Schemes उपलब्ध हैं, आपके म्यूचुअल फंड का चयन आपके Finance Goals, जोखिम लेने की क्षमता और निवेश की अवधि के अनुरूप होना चाहिए। Mutual Funds Schemes चुनते समय, आपको इसके पिछले प्रदर्शन को भी ध्यान में रखना चाहिए। एक बार जब आप म्यूचुअल फंड कंपनी में निवेश करना चाहते हैं, तो इन चरणों का पालन करें:

यहां, मैं आपको SIP में invest करने के तरीके के बारे में एक विस्तृत और Step-by-step गाइड देता हूं:

  1. अपने निवेश के लिए म्यूचुअल फंड चुनें:
    1. आवेदन पत्र भरें
    2. मासिक SIP राशि का चेक जमा करें (Offline मोड के लिए) या ECS फॉर्म भरें (ऑनलाइन मोड के लिए)
    3. एक रद्द(cancelled) चेक प्रदान करें
    4. अपना आवासीय प्रमाण KYC फॉर्म प्रदान करें
  2. Online Process: एक नए निवेशक के मामले में एक नया खाता बनाएं या मौजूदा खाता क्रेडेंशियल के साथ लॉग इन करें। KYC विवरण विधिवत भरें ऑनलाइन भुगतान करें।
  3. अपने एसआईपी निवेश की तिथि चुनें: आप अपनी सुविधा के अनुसार तिथि चुन सकते हैं। आप एक महीने में कई एसआईपी निवेशों के लिए कई तिथियों का विकल्प भी चुन सकते हैं।
  4. और SIP राशि का भुगतान करें।
  5. आपको Mutual Fund प्रबंधन कंपनी से SIP निवेश विवरण के साथ एक ईमेल प्राप्त होगा।
  6. और वे आपको एक URN (Unique Registration Number) प्रदान कर सकते हैं जिसे पारस्परिक Monthly SIP कटौती के लिए आपको इस URN को अपने बैंक खाते से नेट बैंकिंग के माध्यम से जोड़ने की आवश्यकता होगी।
  7. अब आप पूरी तरह तैयार हैं।

Top 10 भारतीय Mutual Funds SIP Schemes (Top 10 Mutual Funds For SIP To Invest In 2021)

Best Large Cap Mutual Funds3Y CAGRTill Date CAGR
Axis Bluechip Fund (G)15.20%13.60%
ICICI Prudential Bluechip Fund (G)12.40%14.50%
Kotak Bluechip fund (G)14.40%13.77%
Mirae Asset Large Cap Fund (G)13.70%16.10%
ICICI Prudential Bluechip Fund Institutional I (G)0.20%11.70%
DSP Top 100 Equity Fund (G)10.30%19.90%
Invesco India largecap Fund (G)12.40%12.70%
Aditya Birla Sun Life Frontline Equity Fund Trigger Facility (G)11.90%20.10%
BNP Paribas Large Cap Fund (G)14.40%16.50%
LIC MF Large Cap Fund (G)13.00%10.80%
SBI Bluechip Fund (G)12.80%11.90%
L&T India Large Cap Fund (G)12.10%10.20%
Edelweiss Large Cap Fund C (G)12.00%14.30%
Canara Robeco Bluechip Equity Fund (G)16.70%13.30%
ITI Large Cap Fund (G)17.61%15.80%
IDFC Nifty Fund (G)13.40%11.60%
UTI Mastershare Unit (G)13.60%16.00%
HSBC Large Cap Equity Fund (G)11.70%20.00%
PGIM India Large Cap Fund (G)12.10%18.70%
Nippon India Large Cap Fund (G)10.20%11.50%

Mutual Funds SIP India इन नए निवेशकों को अपना पैसा निवेश शुरू करने के लिए एक विशेष निमंत्रण है। यह पूरी तरह से मुफ़्त है और इसमें कोई तार नहीं जुड़ा है। मुझे आशा है कि आपको Mutual Funds SIP India – Mutual Funds SIP कैसे खरीदें – Top 5 भारतीय म्युचुअल फंड पर हमारा ब्लॉग पसंद आया होगा। अगर आपका कोई सुझाव है तो कमेंट करें।

नमस्कार! मेरा नाम अभिजीत है, मैं एक अनुभवी वर्चुअल असिस्टेंट और HindiMedium.net का संस्थापक हूं। कृपया बेझिझक मेरे साथ लिंक्डइन पर जुड़ें - www.linkedin.com/in/abhijitchetia

Leave a Comment