दुनिया का सबसे अमीर देश कौन सा है? Richest country in the world

अगर आप दुनिया का सबसे अमीर देश कौन सा है इसका जवाब ढूंढ रहे है, तो इसका जवाब होगा लक्जमबर्ग ।लक्ज़मबर्ग GDP के क्षेत्र मे यूरोपीय देशों  को दुनिया के सबसे धनी देश के रूप में वर्गीकृत और परिभाषित किया गया है। ये देश सकल घरेलू उत्पाद मूल्यों पर आधारित हैं। 

लक्जमबर्ग दुनिया का पहला सबसे अमीर देश है और लक्ज़मबर्ग की GDP प्रति व्यक्ति सकल घरेलू उत्पाद (GDP Per Capita): $131,781.72 है ।

आपलोगों के मन में ये सवाल आइएगा कि ये GDP किया है इसकी केसे गनना करते है। तो जानिए सरल शब्दों में जीडीपी (GDP) का क्या अर्थ है?

 सकल घरेलू GDP

किसी देश की भौगोलिक सीमाओं के भीतर उत्पादित वस्तुओं और सेवाओं का अंतिम मूल्य है, जो सामान्य रूप से एक वर्ष की एक निर्दिष्ट अवधि के दौरान होता है।  जीडीपी विकास दर किसी देश के आर्थिक प्रदर्शन का एक महत्वपूर्ण संकेतक है।

GDP per Capita की गणना कैसे करते हैं?

GDP per Capita की गणना देश की कुल GDP को देश की कुल जनसंख्या से विभाजित करके की जाती है। यह किसी देश के आर्थिक विकास को मापने का एक सूत्र है जिसकी तुलना विभिन्न देशों के बीच यह निर्धारित करने के लिए की जा सकती है कि कौन से देश तेजी से बढ़ रहे हैं और कौन से पीछे हैं।

2021 बर्ष के अनुसार लक्ज़मबर्ग की GDP: 

2021 बर्ष के अनुसार लक्ज़मबर्ग की GDP प्रति व्यक्ति सकल घरेलू उत्पाद (GDP Per Capita): $131,781.72 है। ओर GDP: $84.07 billion है । लक्ज़मबर्ग वर्तमान में दुनिया की 66वीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है। 

विश्व के सबसे अमीर देश लक्जमबर्ग

लक्जमबर्ग जर्मनी, फ्रांस और बेल्जियम से घिरा एक छोटा सा भूमि से घिरा देश है।  आज, लक्ज़मबर्ग दुनिया के सबसे महत्वपूर्ण वित्तीय केंद्रों में शुमार है, हालांकि २०वीं शताब्दी की शुरुआत तक, इसका आर्थिक भाग्य आंतरिक रूप से इस्पात (Steel) उद्योग से जुड़ा हुआ था।  1950 के दशक के उत्तरार्ध से लक्ज़मबर्ग ने अपनी अर्थव्यवस्था को स्टील से दूर करने के लिए बड़े प्रयासों के साथ शुरुआत की। 

वर्तमान समय में, लक्ज़मबर्ग की संपत्ति का लगभग 88% सेवा क्षेत्र से आता है, जिसमें वित्तीय सेवाओं में लगभग एक तिहाई शामिल है।  आयात (Import) और निर्यात (Export) के मामले में, इंट्रा-यूरोपीय संघ (ईयू) व्यापार लक्ज़मबर्ग के निर्यात का 84% हिस्सा है जबकि 88% आयात यूरोपीय संघ के सदस्य देशो से आता है। 

 निष्कर्ष में हम लक्ज़मबर्ग को 2025 में नाममात्र जीडीपी शर्तों (बाजार विनिमय दरों पर) में दुनिया की सबसे धनी अर्थव्यवस्था होने का अनुमान लगा सकते  हैं।  हाल के दशकों में लक्ज़मबर्ग की आर्थिक सफलता एक तेजी से  बढ़ोती हुआ है ओर इसके लिए देश के सेवा क्षेत्र    धन्यवाद के पात्र है । देश कई महत्वपूर्ण यूरोपीय संघ के संस्थानों का घर है और एक अनुकूल कर व्यवस्था के लिए एक बड़े वित्तीय क्षेत्र का दावा करता है।  जबकि अर्थव्यवस्था पिछले साल कोविड -19 के कारण अनुबंधित हुई थी, इसे आने वाले वर्षों में एक मजबूत विकास प्रक्षेपवक्र पर लौटना चाहिए और सेवा क्षेत्र की निरंतर गतिशीलता और मजबूत जनसंख्या वृद्धि के बीच यूरोपीय संघ के औसत से ऊपर विस्तार करने के लिए तैयार है।

Read More – दुनिया का सबसे बड़ा देश कौन सा है | Largest country in the world (Hindi)

नमस्कार! मेरा नाम अभिजीत है, मैं एक अनुभवी वर्चुअल असिस्टेंट और HindiMedium.net का संस्थापक हूं। कृपया बेझिझक मेरे साथ लिंक्डइन पर जुड़ें - www.linkedin.com/in/abhijitchetia

Leave a Comment